REWIND

20.3.12

तीन छायाचित्र XIV : गौरैया तेरी याद में ...



                                                                        छायाचित्र-1



                                                                             छायाचित्र-2



                                                                          छायाचित्र-3

4 टिप्‍पणियां:

दिलबाग विर्क ने कहा…

अब तो इन्ही छायाचित्रों से ही काम चलाना होगा
गोरैया तो अब कभी कभार ही दिखती है
सुंदर चित्र

शिखा कौशिक ने कहा…

bahut sundar .aabhar .NAVSAMVATSAR KI HARDIK SHUBHKAMNAYEN !shradhey maa !

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

जीवन में आनन्द का संचार करनेवाले इतने प्यारे जीव दुर्लभ होते जा रहे हैं -घरों में आँगन नहीं ,घोंसले की जगह नहीं .दाना -पानी भी कौन डालता है अब ?

dilipshakya@gmail.com ने कहा…

Pratikriyaon ke liye Shukriya,Aabhar....Gauraiya hamare jeevan me sadaiv bani rahe...

Type your e-mail to subscribe

Disclaimer

©All photographs appearing on this blog are property of Dileep Shakya and must not be reproduced or copied without his prior approval.
onmousedown="return false" oncontextmenu="return false" onselectstart="return false">